संविधान अनुच्छेद 102 | Article 102 of Indian Constitution in Hindi

आज के इस आर्टिकल में मै आपको सदस्यता के लिए  निरर्हताएं  | भारतीय संविधान अनुच्छेद 102 | Article 102 of Indian Constitution in Hindi | Article 102 in Hindi | भारतीय संविधान का अनुच्छेद 102 | Disqualifications for membershipके विषय में बताने जा रहा हूँ आशा करता हूँ मेरा यह प्रयास आपको जरुर पसंद आएगा । तो चलिए जानते है की –

भारतीय संविधान अनुच्छेद 102 | Article 102 of Indian Constitution in Hindi

[ Indian Constitution Article 102 in Hindi ] –

सदस्यता के लिए  निरर्हताएं

(1) कोई व्यक्ति  संसद  के किसी सदन का सदस्य चुने जाने के लिए और सदस्य होने के लिए निर्हित होगा —

(क) यदि वह भारत सरकार के या किसी राज्य की सरकार के अधीन, ऐसे पद को छोड़कर, जिसको धारण करने वाले का निर्हित न होना संसद ने विधि द्वारा घोषित किया है, कोई लाभ का पद धारण करता है ;

(ख) यदि वह विकॄतचित्त है और सक्षम न्यायालय की ऐसी घोषणा विद्यमान है ;

(ग) यदि वह अनुन्मोचित दिवालिया है ;

(घ) यदि वह भारत का नागरिक नहीं है या उसने किसी विदेशी राज्य की नागरिकता स्वेच्छा से आर्जितकर ली है या वह किसी विदेशी राज्य के प्रतिनिष्ठा या अनुषक्ति को अभिस्वीकार किए हुए  है ;

(ङ) यदि वह संसद  द्वारा बनाई गई किसी विधि द्वारा उसके अधीन इस प्रकार निर्हित कर दिया जाता है ।

[43][स्पष्टीकरण–इस खंड के प्रयोजनों के लिए,] कोई व्यक्ति केवल उस कारण भारत सरकार के या किसी राज्य की सरकार के अधीन लाभ का पद  धारण करने वाला नहीं समझा जाएगा कि वह संघ का या ऐसे राज्य का मंत्री है ।

[44][(2) कोई व्यक्ति  संसद  के किसी सदन का सदस्य होने के लिए  निर्हित होगा यदि वह दसवीं  अनुसूची के अधीन इस प्रकार निर्हित हो जाता है ।]

भारतीय संविधान अनुच्छेद 102

[ Indian Constitution Article 102 in English ] –

Disqualifications for membership”–

(1) A person shall be disqualified for being chosen as, and for being, a member of either House of Parliament— 

1[(a) if he holds any office of profit under the Government of India or the Government of any State, other than an office declared by Parliament by law not to disqualify its holder;] 

(b) if he is of unsound mind and stands so declared by a competent court; 

(c) if he is an undischarged insolvent; 

(d) if he is not a citizen of India, or has voluntarily acquired the citizenship of a foreign State, or is under any acknowledgment of allegiance or adherence to a foreign State; 

(e) if he is so disqualified by or under any law made by Parliament. 

2[Explanation.—For the purposes of this clause a person shall not be deemed to hold an office of profit under the Government of India or the Government of any State by reason only that he is a Minister either for the Union or for such State.] 

3[(2) A person shall be disqualified for being a member of either House of Parliament if he is so disqualified under the Tenth Schedule.] 


भारतीय संविधान अनुच्छेद 102

भारतीय संविधान

Pdf download in hindi

Indian Constitution

Pdf download in English


Article 1 of Indian Constitution in Hindi Article 1 of Indian Constitution in Hindi
Updated: August 10, 2020 — 8:54 am

Leave a Reply

Your email address will not be published.